दही में नमक डालकर खाने से पहले जरूर जान लें ये बातें, नहीं तो पड़ सकता है पछताना

0
556

दही को स्वास्थ्य के लिए बहुत लाभकारी माना जाता है. कहते हैं कि यदि व्यक्ति रोज एक कटोरी दही खायेगा तो उसकी पाचन क्रिया सही रहेगी. दही में भरपूर मात्रा में कैल्शियम, प्रोटीन और विटामिन पाए जाते हैं. भारत में प्राचीन काल से ही लोग दही का इस्तेमाल करते आ रहे हैं. दही का इस्तेमाल केवल खाने में नहीं बल्कि शुभ कार्यों में भी होता है. आपने देखा होगा कि किसी जरूरी काम पर जाने से पहले व्यक्ति को दही चीनी खिलाई जाती है. कहा जाता है कि किसी भी शुभ कार्य को शुरू करने से पहले यदि दही खिलाया जाए तो काम बना जाता है.

दही हमारी सेहत के लिए बहुत ही फायदेमंद होता है. यह न केवल हमारे स्वास्थ्य को बनाये रखता है बल्कि हमें सुंदर दिखाने में भी हमारी मदद करता है. कई ब्यूटी मास्क ऐसे बनाये जाते हैं जिसमें दही का इस्तेमाल किया जाता है. दही की सबसे ख़ास बात ये है कि सस्ता होने के साथ-साथ यह आसानी से हर जगह उपलब्ध भी होता है. गर्मी के मौसम में लोग दही का सेवन ज्यादा करते हैं. यह हमारे डाइजेस्टिव सिस्टम को ठीक बनाये रखता है.

पेट की बामारी से जूझ रहे लोगों को दही का सेवन अवश्य करना चाहिये. अधिकतर घरों में रायते के रूप में इसका इस्तेमाल सबसे अधिक होता है. लेकिन कुछ लोग ऐसे भी होते हैं जिन्हें दही में चीनी, गुड़ या नमक डालकर खाने की आदत होती है. चीनी और गुड़ तो ठीक है लेकिन दही में कभी भी नमक डाल कर नहीं खाना चाहिए. ऐसा करने से स्वास्थ्य को बहुत भारी नुकसान होता है और दही में मौजूद पौष्टिक तत्व हम तक नहीं पहुंच पाते.

दही में मौजूद होते हैं बैक्टीरिया

दरअसल, दही में छोटे-छोटे करोड़ों की संख्या में बैक्टीरिया मौजूद होते हैं. इन बैक्टीरियों को केवल लेंस के माध्यम से देखा जा सकता है. जब आप लेंस लगाकर देखेंगे तो ये बैक्टीरिया आपको जीवित अवस्था में इधर-उधर घूमते नजर आएंगे. इन बैक्टीरियों को शरीर के लिए अच्छा माना जाता है और इनका शरीर में जाना फायदेमंद होता है. दही खाने से हमारे अंदर एंजाइम प्रोसेस अच्छे चलते हैं.

आयुर्वेद में दही को जीवाणुओं का घर भी कहा गया है. एक कप दही में करोड़ों की संख्या में जीवाणु मौजूद होते हैं. यदि आप दही को मीठा करके खाएंगे तो ये बैक्टीरिया शरीर के लिए बहुत फायदेमंद साबित होंगे. लेकिन जैसे ही आप इसमें नमक डालेंगे, ये सारे बैक्टीरिया मर जाएंगे और आप मरे हुए जीवाणुओं वाली दही खाएंगे. 2 किलो दही में यदि आप चुटकी भर भी नमक डालते हैं तो सारे बैक्टीरिया मर जाएंगे.

मीठा डालने से बढ़ जाती है जीवाणुओं की संख्या

आयुर्वेद की मानें तो दही में ऐसी चीजें मिलानी चाहिए जिससे जीवाणुओं की संख्या में वृद्धि हो, ना कि ऐसी चीजें जो इनकी संख्या घटाये. इसलिए जब भी आप दही खाएं उसमें कुछ मीठा अवश्य मिलाएं. दही में चीनी या गुड़ डालकर खाने की आदत डालें. यह दही में जीवाणुओं की संख्या को बढ़ा देगा. मान लीजिये दही में एक करोड़ की संख्या में बैक्टीरिया है तो मीठा डालने पर यह संख्या बढ़ के दोगुना यानी दो करोड़ हो जायेगी. दही में मिश्री सबसे ज्यादा कमाल करती है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here